When Sheikh Abdullah (Papa Mian) wrote poem for his daughter, Khurshid Jahan

Sheikh Abdullah, founder of Women’s College in Aligarh, and Begum Waheed Jahan had seven children, five daughters and two sons.

Read more

कुछ क़ैद में पड़े हैं, हम क़ब्र में पड़े हैं, दिन ख़ून का हमारे प्यारो न भूल जाना…

ये नज़्म “शहीदों के सन्देश” के नाम से एक नामालूम इंक़लाबी शायर ‘प्रेमी’ ने 1930 में लिखा था, जो दिल्ली

Read more
Translate »