1857 की क्रांति के नायक बाबू कुंवर सिंह और उनके मुस्लिम साथियों की वीरगाथा

जब बिहार मे 1857 की क्रांति की बात होती है तो सिर्फ़ ‘बाबू कुंवर सिंह’ का नाम लिया जाता है..

Read more

1857 की बक़रईद : बहादुर शाह ने क़ुरबानी पर लगा दी थी क़ानूनी रोक

  प्रोफ़ेसर कपिल कुमार सदियों से भारत की ये रीत बनी रही है कि हम भारतीय आपस में अपने घर

Read more

पटना का कमिश्नर विलियम टेलर जब निलंबित हो कर बना वकील

  अरूण सिंह 1857 में स्वाधीनता संग्राम की पहली लड़ाई या सिपाही विद्रोह के वक्त पटना के तत्कालीन कमिश्नर विलियम

Read more

1857 सुना तो है मगर जानते भी हैं क्या इसे ?

हफ़ीज़ किदवई कोई कहता है की यह प्रथम स्वतंत्रता संग्राम था तो कोई कहता है की यह जन संघर्ष की

Read more

बेगम हज़रत महल के जासूस जिम्मी ग्रीन उर्फ़ मोहम्मद अली ख़ान की दास्तान

  एक रोज़ अपने ख़ैमे में लेटा था कि, केक बेचने वाले की आवाज़ सुनाई दी, गोश्त खा खा कर

Read more

बेगम हज़रत महल : अंग्रेज़ों के झण्डे को दुनिया में सबसे पहले ज़मींदोज़ करने वाली।

हफ़ीज़ किदवई कुछ तारीख़ें सिर्फ़ तारीख़ भर नही होती बल्कि पूरे एक ज़माने का ढलना होती है। आज वही 7

Read more

बाबु कुंवर सिंह के सबसे प्रमुख सिपहसालार थे क़ाज़ी ज़ुल्फ़िक़ार अली ख़ां।

Md Umar Ashraf बाबु कुंवर सिंह अपने सबसे ख़ास सिपहसालार काको (जहानाबाद) के शहीद काज़ी ज़ुल्फ़िक़ार अली ख़ां को कैथी

Read more
Translate »