Nawab Syed Mohammad Hassan Khan ‘Rashki’ : 200 years and a legacy concealed.

  As end of the 1700s approached, Azeemabad became empty of the first generation Urdu poets, such as Ali Ibrahim

Read more

दंगो में अपना सब कुछ लुटा चुका एक मुसलमान जब 11 साल बाद पहुँचा अपने गाँव

जब कभी मेल या एक्सप्रेस ट्रेन से फ़तुहा स्टेशन आने वाला होता, जहां से उस समय मार्टिन कंपनी की छोटी

Read more

फ़ैज़ : जिसने कुछ इश्क़ किया, कुछ काम किया….

माजिद मजाज़ हुस्न, मोहब्बत, इंसानी दोस्ती, अदल-ओ-इंसाफ़ का मसीहा और जुर्रत-ए-इज़हार का दूसरा नाम फ़ैज़ अहमद फ़ैज़! उर्दू शायरी को

Read more

जब देशभक्ती गीत लिखने की वज़ह कर ‘कवि प्रदीप’ को अरसे तक भूमिगत रहना पड़ा…

आज हिमालय की चोटी से फिर हमने ललकारा है, दूर हटो ऐ दुनिया वालों हिन्दुस्तान हमारा है प्रसिद्ध भारतीय कवि

Read more

शाद अज़ीमाबादी :- वो इज़्ज़त-ओ-शोहरत नहीं मिली जिसके वो मुस्तहिक़ थे।

8 जनवरी 1846 को बिहार के अज़ीमाबाद में पैदा हुए सैयद अली मोहम्मद को दुनिया आज शाद अज़ीमाबादी के नाम

Read more
Translate »