जब बाग़ीयों की मदद से बहादुर शाह ज़फ़र बने हिन्दुस्तान के शहंशाह

ये वो दौर था जब मुग़लिया सल्तनत का सूरज डूबने वाला था, बहादुरशाह ज़फ़र की हुकुमत लालक़िले की दीवारों के तक महदूद हो कर रह गई थी, ईस्ट इंडिया कंपनी ने मद्रास से लेकर कलकत्ता और बंबई से लेकर गुजरात तक हिंदुस्तान के एक बड़े हिस्से पर क़ब्ज़ा जमा लिया था। कारतूसों में गाय और … Continue reading जब बाग़ीयों की मदद से बहादुर शाह ज़फ़र बने हिन्दुस्तान के शहंशाह