एै हिन्दुस्तान, तुमने बापू को नहीं छोड़ा तो फिर इक़बाल को कैसे भुला दिया?

माजिद मजाज़ अल्लामा इक़बाल ने कभी एक आज़ाद मुस्लिम मुल्क की वकालत नहीं की थी और न ही इसे सही

Read more
Translate »