12 अगस्त 1899 को हैदराबाद में जन्मे सैयद मुहम्मद हादी हिन्दुस्तान के सबसे अज़ीम अथेलीटों में से हैं, जिन्होने अकेले सात खेलों में हिन्दुस्तान की नुमाईंदगी की!

उन्होने हिन्दुस्तान के लिए ना सिर्फ़ क्रिकेट और टेनिस खेला बल्के पोलो, हॉकी, सॉकर, टेबल टेनिस और चेस जैसे खेलों पर भी उबूर हासिल किया। चूंके उन्हे सात खेलों पर उबूर हासिल था इस लिए उनकी इसी ख़ूबी की वजह कर लोग उन्हे “रेनबो हादी” यानी ‘इंद्रधनुष हादी’ नाम से पुकारते थे।

72 साल के उम्र में 14 जुलाई 1971 को इंतक़ाल किये सैयद मुहम्मद हादी, हिन्दुस्तान के पहले ओलंपिक टेनिस खिलाड़ी थे जिन्होने 1924 मे फ़्रांस में हुए समर ओलंपिक में हिस्सा लिया था।

एक क्रिकेटर की हैसियत से उन्होने पहले दर्जे का क्रिकेट खेला और 1934 में रण्जी ट्राफ़ी में खेलना शुरु किया; और रण्जी में शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने!

1939 में उन्होने संस्थापक सदस्य की हैसियत हैदराबाद फ़ुटबाल ऐसोसिऐशन और हैदराबाद क्रिकेट ऐसोसिऐशन की बुनियाद डाली।