जनता ने नहीं, कायस्थों ने बनाया अलग बिहार

  Dr Raju Ranjan Prasad बंगाल से बिहार को अलग किये जाने की घटना को ‘बिहार की जनता की जीत’ एवं ‘हिंदू-मुस्लिम एकता’ के रूप में देखा जा रहा है जो इतिहास का मिथकीकरण है. ध्यान रहे कि बंगाल से बिहार के पृथक्करण के आन्दोलन में जनता की ओर से कोई भागीदारी नहीं निभायी गई. … Continue reading जनता ने नहीं, कायस्थों ने बनाया अलग बिहार