बहादुर शाह ज़फ़र : हिन्दुस्तान का वह आख़री मुग़ल बादशाह जिसे ‘दो गज़ ज़मीं भी न मिल सकीं कुए यार में’

  Ali Zakir कह दो इन हसरतों से कहीं और जा बसें इतनी जगह कहां है दिल-ए-दाग़दार में आखिरी मुगल बादशाह बहादुर शाह जफर को उर्दू के एक बड़े शायर के रुप में जाना जाता है. उन्होंने देशप्रेम से ओतप्रोत दर्जनों शायरी लिखी. उन्हें एक कमजोर शासक कहा गया, क्योंकि वह मिजाज से कभी मुगल … Continue reading बहादुर शाह ज़फ़र : हिन्दुस्तान का वह आख़री मुग़ल बादशाह जिसे ‘दो गज़ ज़मीं भी न मिल सकीं कुए यार में’