Archive

Month: October 2018

जब महात्मा गांधी के साथ ख़्वाजा अब्दुल हमीद से मिलने “सिप्ला” के दफ़्तर पहुंचे सरदार पटेल…

आज हिन्दुस्तान की तारीख़ के दो अज़ीम शख़्स की यौम ए पैदाईश है। पहला सरदार पटेल का और दुसरा ख़्वाजा…

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की बुनियाद रेशमी रुमाल तहरीक के नायक शेख़ उल हिन्द मौलाना महमूद उल हसन ने अलीगढ़ में रखी थी

वो जुमा का दिन था, 29 अक्तुबर 1920, जब जामिया मिल्लिया इस्लामिया के क़याम का ऐलान हुआ था। अलीगढ़ कॉलेज…

जामिया मिल्लिया इस्लामिया :- अंग्रेज़ी शिक्षा पद्धति के विरुद्ध बनने वाला भारत का पहला विश्वविधालय

    मुहम्मद शाहीण तहरीक ए ख़िलाफ़त और असहयोग तहरीक के समय सरकारी एदारे का विरोध हुआ तब सरफ़रोशों की…

बहादुर शाह ज़फ़र : हिन्दुस्तान का वह आख़री मुग़ल बादशाह जिसे ‘दो गज़ ज़मीं भी न मिल सकीं कुए यार में’

  Ali Zakir कह दो इन हसरतों से कहीं और जा बसें इतनी जगह कहां है दिल-ए-दाग़दार में आखिरी मुगल…

जब हांथ में पिस्तौल लेकर मंदिर की रक्षा के लिए अशफ़ाक उल्लाह ख़ाँ सड़क पर आये.…

  जब तक ख़िलाफ़त मूव्मेंट और असहयोग आंदोलन चलता रहा देश में हिंदू मुस्लिम एकता के नारे लगते रहे; लेकिन…

जब ‘आज़ाद हिंद सरकार’ की घोषणा कर भावुक हो गए नेताजी सुभाष चंद्र बोस…

  21 अक्टूबर, 1943 को नेताजी ने सिंगापुर की कैथे बिल्डिंग में एक समारोह के दौरान ‘आरजी-हुकूमत आजाद हिंद’ की…

बस यूँहीं मजाज़ मेरे पास से उठकर चले जाते हैं और मजाज़ को पैदाइश की मुबारकबाद अनसुनी रह जाती है…

हफ़ीज़ किदवई दो नाम कहें या दो दौर कहें, या एक दौर की दो नुमाइश कहें, मजाज़ और मंटो। इनके…

अलीगढ़ में खड़ी सर सय्यद की बनाई हर ईमारत किसी लाल क़िला, ताजमहल, हवा महल से बुलन्द है, क्योंकि ….

  हफ़ीज़ किदवई उसने किसी मुल्ला की तरह क़ौम के कसीदे नही पढ़े। किसी धर्मगुरु की तरह धर्म की रक्षा…

जब ग़दर पार्टी के संस्थापक लाला हरदयाल के कहने पर अल्लामा इक़बाल ने तरन्नुम में सुनाई “सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्ताँ हमारा”

तस्वीर 1910 की है, जिसमें आप अल्लामा इक़बाल को गवर्नमेंट कॉलेज लाहौर में अपने साथियों और शागिर्दों के साथ देख…

बहार हुसैनाबादी :- जिनका पूरा ख़ानदान अदब और तहज़ीब की ज़िंदा मिसाल…

प्रोफ़ेसर जाबिर हुसैन शेखपुरा के ‘स्वयंवर’ पहाड़ की तराई में अवस्थित दो जुड़वां बस्तियों में से एक, हुसैनाबाद, में आज…

किसान व मज़दूर को सूदख़ोरों के चंगुल से मुक्त कराने वाले दीनबंधु चौधरी छोटूराम

  हरियाणा के किसानों के बीच सर छोटूराम एक जाना-पहचाना नाम हैं. 24 नवम्बर 1881 को जन्मे सर छोटूराम हरियाणा…

दुर्गा भाभी : एक महान महिला क्रांतिकारी जिसने भारत की आज़ादी के खा़तिर अपने पति तक को खो दिया।

  राज त्रिपाठी दुर्गा भाभी का जन्म 7 अक्टूबर 1902 को शहजादपुर ग्राम अब कौशाम्बी जिला में पंडित बांके बिहारी…

दुर्गा भाभी के नम सवालों को बेगम अख़्तर आवाज़ दे रहीं हैं की जवाब दो… वह जो हममे तुममें क़रार था…….

  हफ़ीज़ किदवई चन्द्र शेखर आज़ाद ने जिस रिवाल्वर से खुद को शहीद किया था वोह उनकी लाई हुई थी,जो…

जब भारत की आज़ादी के लिए हंसते-हंसते फांसी पर चढ़े नादिर अली और जयमंगल पांडेय

  सन् 1857 ई. की क्रांति अंग्रेज़ी सत्ता को एक महान चुनौती थी। जिसने ब्रिटिश सरकार को झकझोर दिया। अंग्रेज़ों…

बिहार की यह लड़की बनी थी देश की पहली लेडी डॉक्टर, नाम था कादम्बिनी गांगुली

  18 जुलाई 1861 को बिहार के भागलपुर में जन्मीं कादम्बिनी गांगुली भारत की पहली महिला स्नातक और पहली महिला फिजीशियन…

मंगल ख़ान मेवातीः वह महान स्वतंत्रता सेनानी जिसने फ़िरंगी अफ़सर के मुंह पर थूक दिया था, और फिर….

  शरीफ़ मोहम्मद ख़िलजी इस मुल्क को आजाद कराने में हिन्दू और मुसलमानों की बराबर भूमिका रही। वो अलग बात…

Close
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com