‘दूर हटो ऐ दुनिया वालों हिंदुस्तान हमारा है’ :- कवि प्रदीप उर्फ़ रामचंद्र नारायणजी द्विवेदी

ध्रुव गुप्त  हिंदी कविता और हिंदी सिनेमा में भी देशभक्ति और मानवीय मूल्यों का अलख जगाने वाले गीतकारों में कवि स्व.प्रदीप उर्फ़ रामचंद्र नारायणजी द्विवेदी का बहुत ख़ास मुक़ाम रहा है। वे अपने दौर में हिंदी कविता और कवि सम्मेलनों के नायाब शख्सियत रहे हैं। उनकी जनप्रियता ने सिनेमा के लोगों का ध्यान उनकी तरफ … Continue reading ‘दूर हटो ऐ दुनिया वालों हिंदुस्तान हमारा है’ :- कवि प्रदीप उर्फ़ रामचंद्र नारायणजी द्विवेदी